Wednesday, October 20, 2010

"main tujhse door jaa rhi hun"

after a long tym something directly from my heart,.,.,. tried to express some unspoken feelings in words......

main tujhse door jaa rahi hun,
jaane- anjaane apne raaste bhoola rahi hun,
tujhe apne sapno se door le jaa rahi hun,
khud ko bin tere jeena seekha rahi hun,
ab main tujhse door jaa rahi hun.,.,.,.,.

naa main bewafa, naa tu bereham tha,
mere zakhamo ka tera pyar he ik marham tha,
fir bhi dil ko bin dhadkan jeena seekha rahi hun..
main tujhse door jaa rahi hun..... main tujhse door jaa rahi hun

hawaan ke jhaunkhe sa tu zindagi me aaya,
kitni maasumiyat se tune jeena seekhaya,
dukhon me hasaya, khushiyon me rulaya,
tune mujhe fir " main " banaya,
par naa jaane kyu aaj main dagmga rahi hun,
main tujhse door jaa rahi hun!!!!

naa chahte hue bhi ajnabi raaste apna rahi hun,
apne kashti ko apne haathon se dooba rahi hun,
sirf teri the yeh "aalisha" aaj kisi aur ki ho rahi hai
sunsaan raaste me baith, teri yaadon me ro rahi hai,

rok sakta hai to ro le sanam mujhe,
kahin "main" se "tum" aur "tum" se "wo" na ho jau,
bna le apna mujhe kahin iss anjaani bheedh me naa kho jau!!!!


devnagari version
मैं तुझसे दूर जा रही हूँ ,
जाने - अनजाने अपने रास्ते भूला रही हूँ ,
तुझे अपने सपनो से दूर ले जा रही हूँ ,
खुद को बिन तेरे जीना सीखा रही हूँ ,
अब मैं तुझसे दूर जा रही हूँ .,.,.,.,.

ना मैं बेवफा , ना तू बेरहम था ,
मेरे ज़ख्मो का तेरा प्यार ही इक मरहम था ,
फिर भी दिल को बिन धड़कन जीना सीखा रही हूँ ..
मैं तुझसे दूर जा रही हूँ ..... मैं तुझसे दूर जा रही हूँ

हवां के झोंखे सा तू ज़िन्दगी में आया ,
कितनी मासूमियत से तुने जीना सीखाया ,
दुखों में हसाया , खुशियों में रुलाया ,
तुने मुझे फिर " मैं " बनाया ,
पर ना जाने क्यों आज मैं डगमगा रही हूँ ,
मैं तुझसे दूर जा रही हूँ !!!!

ना चाहते हुए भी अजनबी रास्ते अपना रही हूँ ,
अपने कश्ती को अपने हाथों से डूबा रही हूँ ,
सिर्फ तेरी थी यह "आलिशा " आज किसी और की हो रही है
सुनसान रास्ते में बैठ , तेरी यादों में रो रही है ,

रोक सकता है तो रोक ले सनम मुझे ,
कहीं "मैं " से "तुम " और "तुम " से "वो " ना हो जाऊ ,
बना ले अपना मुझे कहीं इस अनजानी भीढ़ में ना खो जाऊ !!!!